वो शख्स एक छोटी सी बात पे यूँ रूठ के चल दिया,
जैसे उसे सदियों से किसी बहाने की तलाश थी…!!
————————————————————————————-
लफ्ज़ जब बरसते हैं
बन कर बूँदें,,
मौसम कोई भी हो
सब भीग ही जाते है…!!
————————————————————————————-
जिंदगी में जब आएँ खुशियाँ
तो चखना तुम मिठाई की तरह ….
मुमकिन है ग़म भी आएँगे
तो उन्हें भी स्वीकार लेना दवाई की तरह…!!
————————————————————————————-
आँखों में बसने वाले प्यारा सा इशारा हो,
अँधेरी रात में चमकता सितारा हो,
चुभ नहीं सकती उदासी कभी उसको,
जिसका कोई दोस्ती इतना प्यारा हो…!!http://www.whatsappshayari.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *