कितने बरसों का सफर यूँ ही ख़ाक हुआ,
जब उन्होंने कहा “कहो..कैसे आना हुआ"...!!Top whatsapp sad shayari
करीब इतना रहो कि रिश्तो मे प्यार रहे,
दूर भी इतना रहो कि आने का इन्तजार रहे...!!
बग़ैर जिसके एक पल भी गुज़ारा नहीं होता,
सितम देखिये वही शख़्स भी हमारा नहीं होता...!!
इसलिए खामोश रह के उम्र पूरी काट दी,
ज़िन्दगी तुझसे बहस का फायदा कोई नहीं…!!
बिखरने के बहाने तो बहुत मिल जायेगे,
आओ हम जुड़ने के अवसर तो खोजे...!!
जिक्र तेरा हुआ तो हम महफ़िल छोड़ आये,
हमें गैरों के लबों पे तेरा नाम अच्छा नहीं लगता…!!Top whatsapp sad shayari
लोग अफ़सोस से कहते है की कोई किसी का नहीं,
लेकिन कोई यह नहीं सोचता की हम किसके हुए...!!

http://www.whatsappshayari.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *