ज़ख्म इतने गहरे हैं इज़हार क्या करें,

हम खुद निशान बन गए वार क्या करें,

मर गए हम मगर खुलो रही आँखें,

अब इससे ज्यादा इंतज़ार क्या करें…!!

————————————————————————

“जिनका मिलना. . . . .मुकद्दर मेँ नहीँ लिखा होता,

उनसेँ मोहब्बत “कसम” से कमाल की होती है…!!

————————————————————————

अच्छा लगता है जब gf कहती है “Today u r looking smarty”

But World की Best_feeling तब आती है,

जब मम्मी कहती है “आज मेरा बेटा राजकुमार लग रहा है…!!

————————————————————————

जिन्दगी यू तो मुक्कमल सी थी..अपनी पर..

तुमको देखा तो अधुरी सी लगी…!!

————————————————————————

हम तो आशिक लोग है,

हमारे हाथो मे जख्म पहले लिखे जाते है तकदीर बाद में…!!http://www.whatsappshayari.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *