Funny Political Jokes, Whatsapp jokes, whatsapp funny jokes

चुनाव जीतने के बाद नेताजी एक गाँव में गए बोले – चिंता मत करो अब हम आ गए हैं अब विकास होगा…
 .
 .
एक महिला बोली – पिछली बार भी आपने यही कहा था पर हुई थी पिंकी !!
केजरीवाल एक ‘ढाबे’ पर गए और  “रायता”  मॉंगा
.
.
.
ढाबे वाला: रायता ‘बासी’ व ‘खट्टा’ है…
.
.
.
केजरीवाल: दे दो मुझे कौन सा खाना है…मुझे तो बस फैलाना है!
प्रधानमंत्री P.A. से :- अब कहाँ का दौरा बचा है ?
P.A. :- अब सिर्फ दिल का दौरा बचा है जो 2019 election के बाद पड सकता है
कांग्रेस का हाल ऐसा है आजकल कि अगर किसी नेता को बर्थडे भी विश करो तो जवाब मिलता है…

लोकतंत्र में हार-जीत को लगी ही रहती है।
जाति देखकर वोट देने वालो, याद रखो ……
तुम नेता चुन रहे हो……….
.
.
.
अपना जीजा नही !!
बीजेपी की जीत पर राजनेताओं की प्रतिक्रियाएं-
मनमोहन सिंह: ठीक है।
राहुल गांधी: विक्ट्री इज द स्टेट ऑफ माइंड ।
नितिन गडकरी: आज 2 समोसे ज्यादा खाऊंगा ।
राज ठाकरे: मी मराठी मानुष । मैं टोल टैक्स देने को तेयार हूं ।
ममता बनर्जी: आम बीजेपी को छोरेगा नाइ । आने दो शालों को बेंगोल ।
मुलायम सिंह: मोई आ ईतना अई बाअ नई ऐ । आम्प्लदयिक अक्तियां आ लई ऐं ।
(मोदी का जीतना अच्छी बात नहीं है, साम्प्रदायिक शक्तियां आ रही हैं ।)
शरद पवार: अब्बा डब्बा जब्बा, अब्बा डब्बा जब्बा, अब्बा डब्बा जब्बा ।
(हम बाहर से समर्थन देने को तैयार हैं।)
राजीव शुक्ल, सलमान खुर्शीद, रशीद अल्वी और अन्य कांग्रेसी:- कांग्रेस ने जितनी सीटें जीती हैं, राहुल जी की वजह से जीती हैं।
केजरीवाल: जी हमें तो कुछ नहीं पता । हम तो छोटे आदमी हैं जी ।
अर्ज किया है … जाना तेरे इश्क में जिंदगी हो गई फटेहाल है,

पहले मस्त थी जिंदगी, अब कांग्रेस जैसा हाल है…
केजरीवाल ने दुकान पर जाकर पूछा, ‘भाई लहर है’

दुकानदार ने जवाब दिया, ‘नहीं, कोक है’

केजरीवाल (साथ चल रहे पत्रकारों से), ‘देखा लहर नहीं है’
सोनिया गांधी कोलकाता में एक सभा को संबोधित कर रही थीं..

सोनिया: हमारी बंगाल में जो खड्डे हैं, वे गुलाम नहीं आजाद हैं।

पीछे से सेक्रेटरी बोला: अरे, मैडम तो मरवाएंगी, मैंने तो यह लिखकर दिया था- हमारे बगल में जो खड़े हैं, वह गुलाम नबी आज़ाद हैं ।
राहुल गाँधी ने अमेठी के किसानों से पूछा कि… इतनी मोटी घास !! क्या बाहर से बीज मगांया है ? किसान –  ये घास नहीं गन्ने की फसल है ।
राहुल – अच्छा ! गुड़ वाला गन्ना
किसान – हाँ
राहुल ग़ांधी – अभी इसमें गुड़ लगना शुरु नहीं हुआ , कब तक लगेगा ?
किसान – जब आप प्रधानमंत्री बनेंगे तब …
प्रधानमंत्री रहते मनमोहन सिंह ने जिस तरह की ताकत दिखाई थी,
उसके लिए उन्हें ‘नो बल पुरस्कार’ मिलना चाहिए।

http://www.whatsappshayari.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *